केरल के कोझिकोड जिले में  चल रहे ग्रेट इंडियन फूड आर्ट में छाये रहे उत्तराखण्डी कल्यो फूड और पोशाक

केरल के कोझिकोड जिले में  चल रहे ग्रेट इंडियन फूड आर्ट  में छाये रहे उत्तराखण्डी कल्यो फूड और पोशाक
Spread the love

केरलः केरल राज्य के कोझिकोड में चल रहे साप्ताहिक ग्रेट इंडियन फूड आर्ट में उत्तराखण्डी व्यंजनों की धूम रही। धाद संस्था की ओर से नये प्रयोगों के साथ शुरू की गई पहाडी भोज पंरपरा कल्यो फूड केरल में पहुॅच गया है। धाद की ओर से मंजू काला के नेतृत्व वाली टीम में सुनील और संजय कविता देवी, लवकुश सहित कोझिकोड जिले में चल रहे ग्रैंड इण्डियन फूड आर्ट में कल्यो फूड को लेकर हिस्सा ले रही हैं। वहीं सांस्कृतिक टीम में शांति बिजोंला, सुशील पुरोहित सुनीता बहुगुणा हेमलता उनियाल प्रतिभाग कर रही हैं। वहीं और 7 मई को आयोजित होने वाले कार्यक्रम मे धाद सांस्कृतिक टीम की प्रस्तुति होगी। शान्ति अमोली बिन्जोला और सुनीता बहुगुणा की ढोल ढमांऊ की प्रस्तुति सरिता मैंदोलिया और हेमलता उनियाल के लोकगीतों के साथ होगी। सुप्रसिद्ध रंगकर्मी सुशील पुरोहित जी सुनीता बहुगुणा और शान्ति अमोली बिन्जोला के साथ मिलकर “बुढ देवा“ व अन्य प्रस्तुतियां देंगे।


कार्यक्रम में प्रतिभाग कर रही मंजू काला ने बताया कि यहॉ पर स्थानीय निवासी उत्तराखण्ड के पहाड़ी भोज कल्यो फूड को काफी लोग पंसद कर रहे हैं, और उत्सुक नजर आये हैं, हमारे स्टॉल में लगे सभी कल्यो फूड पर काफी भीड़ लगी रही और उत्साहजनक परिणाम मिले। वहीं संस्कृति कर्मी शांति अमोली बिंजोला ने बताया कि कल्यो फूड के साथ उत्तराखण्डी पोशाक और जेवर भी यहॉ के लोगों को आकर्षित करते रहे। लोगों के द्वारा यहॉ के पहनावे और जेवरों के संबंध में काफी जानकारी जुटायी गयी और काफी पंसद भी किया गया। धाद की ओर से गये सभी प्रतिनिधियों ने कहा कि केरल राज्य में उत्तराखण्ड संस्कृति की धूम से वह काफी उत्साहित हैं, और राज्य को एक नई पहचान मिल रही है।

Mankhi Ki Kalam se

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *