यमकेश्वर टैक्सी यूनियन ने ऋषिकेश क्षेत्र में प्रशासन से की स्थायी पार्किंग की मॉग

यमकेश्वर टैक्सी यूनियन ने ऋषिकेश क्षेत्र में प्रशासन से की स्थायी पार्किंग की मॉग
Spread the love

ऋषिकेशः यमकेश्वर स्थित डाण्डामण्डल क्षेत्र एवं तालघाटी क्षेत्र के टैक्सी यूनियन और ऋषिकेश नटराज यमकेश्वर के बीच नगर पालिका स्थित पार्किग को लेकर चल रहा विवाद फिलहाल कोतवाली ऋषिकेश की मध्यस्थता में थम गया है। दोनो टैक्सी यूनियनों के मध्य हुए समझौते के अनुसार नगरपालिका स्थित पार्किग में दो गाड़ी यमकेश्वर क्षेत्र की और एक गाड़ी नटराज यूनियन की सवारी भर कर गंतव्य स्थान को लेकर जायेगी।
बता दें कि हाल ही में टैक्सी यूनियन नटराज एवं डाण्डामण्डल तालघाटी यूनियन के मध्य विवाद चल रहा था, जो बाद में तूल पकड़ गया। विवाद का कारण यह बताया जा रहा है कि सावन में कावड़ मेले को लेकर नटराज टैक्सी यूनियन के द्वारा 35 सालों से यमकेश्वर के तालघाटी व डांडामण्डल क्षेत्र में ऋषिकेश नगर निगम के सामने से चल रहे वाहनों को नटराज टैक्सी यूनियन के पदाधिकारी एवं अन्य प्रदेश के बाहरी असामाजिक वाहन चालकों द्वारा जबरन धमकी दी जा रही है कि तुम यहॉ से अपना स्टैण्ट खाली करें और अपने पौड़ी में ही वाहनो का संचालन करें। बता दे कि यमकेश्वर क्षेत्र का मुख्य बाजार ऋषिकेश है, और साथ ही यमकेश्वर के निवासी ही ़ऋषिकेश व्यापार के मुख्य ग्राहक हैं। इसके साथ ही पूरे ऋषिकेश ऋेत्र और स्वर्गाश्रम एवं लक्ष्मणझूला यमकेश्वर क्षेत्र में आता है, जोकि मुख्य दर्शनीय एवं पर्यटक स्थल है। यमकेश्वर मूल की की आधी से ज्यादा आबादी ऋषिकेश क्षेत्र में निवास करती है और वह यमकेश्वर की आर्थिकी राजनीति पर प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित करती है।
पूर्व सैनिक व क्षेत्र पंचायत सदस्य बूंगा, यमकेश्वर के सुदेश भट्ट ने बताया कि कु अराजक एवं बाहरी तत्वों द्वारा जबरन ही स्थानीय युवाओं के रोजगार को प्रभावित करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नटराज टैक्सी यूनियन आज से 35 साल पूर्व कहॉ थी, जब हमारे युवा यहॉ से अपनी गाड़ियों का संचालन कर रहे हैं तो हम मूल निवासियों को ही बाहरी बताकर दबाव डालकर हटाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने प्रशासन से आहवान करते हुए कहा कि जिस तरह से ऋषिकेश यूनियन हमारे स्थानीय युवाओं को नीलकंठ की सवारी ले जाने से रोक रहे हैं वह गलत है, यदि इस तरह से यह लोग हमारे क्षेत्र के वाहनों को ऋषिकेश में रोकते हैं तो मजबूरन यमकेश्वर की जनता गरूड़ चट्टी पुल व बैराज पुल पर ऋषिकेश की ओर से आने वाले नटराज यूनियन के वाहनों को रोक देगें।


वहीं भादसी नीलकंठ क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य क्रांति कपरूवाण ने कहा कि यदि स्थानीय युवाओं के साथ नटराज टैक्सी यूनियन द्वारा जबरदस्ती हटाने की कार्यवाही की गयी तो नीलकंठ क्षेत्र में नटराज टैक्सी यूनियन की सभी गाड़ियों के प्रवेश को प्रतिबंधित करने और जिला पंचायत की पार्किंग में वाहन खड़ा करने से इनको बंचित करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। प्रधान संगठन के प्रदेश उपाध्यक्ष बचन बिष्ट ने बताया कि चार दिनों से हमारे स्थानीय युवाओं की गाड़िया खड़ी है, वो नीलकंठ के लिए सवारियों नहीं बैठा पा रहे हैं और नटराज टैक्सी यूनियन द्वारा जबरन रोके जाने कारण इनके आगे आजिविका का सवाल खड़ा हो गया है, यदि हमारे स्थानीय युवाओं के साथ इस तरह की कार्यवाही जा रही है तो यमकेश्वर क्षेत्र की समस्त जनता व जन प्रतिनिधियों द्वारा ऋषिकेश की सभी गाड़ियों को यमकेश्वर में प्रवेश करने पर प्रतिबंधित किया जायेगा जिसकी जिम्मेदारी नटराज टैक्सी यूनियन व बाहरी मूल के वाहन चालकों व स्वामियों की होगी।
वहीं यमकेश्वर के मूल निवासी एसपी जोशी एवं अन्य लोगों ने भी कहा कि यमकेश्वर के वाहनों के लिए एक स्थायी पार्किग होनी आवश्यक है। देखने में आता है कि गर्मियों के दिनांं में एक निश्चित पार्किग स्थल नहीं होने से सवारियों को जगह जगह भटकना पड़ता है, और खासकर वृद्धजनों और माताओं और बच्चों को भारी समस्या का सामना करना पड़ता है। वहीं सत्यपाल रावत ने कहा कि यदि हमारे क्षेत्र के वाहन चालकों के लिए एक स्थायी पार्किग की व्यवस्था होती है तो इससे सवारियों एवं वाहनों चालकों को समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा और इस तरह के विवाद नहीं होगें।वहीं स्थानीय निवासी सुनील नेगी ने कहा कि यमकेश्वर के जनप्रतिनिधयों को ऋषिकेश नगर निगम व स्थानीय प्रशासन से वार्ता कर इसके स्थायी समाधान किया जाना आवश्यक है।

Mankhi Ki Kalam se

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *