पुलिस ने किया चीला नहर से अंकिता का पार्थिव शरीर बरामद, मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जघन्य अपराध करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा

Spread the love

ऋषिकेश। अंकिता हत्याकांड में मुख्यमंत्री के निर्देश पर तेजी से काम कर रही उत्त्तराखण्ड पुलिस ने आज तड़के चीला नहर से अंकिता का शव बरामद कर लिया है। शव का पंचायतनामा भरने की कार्रवाई की जा रही है।आपको बता दे कि अंकिता की हत्या का खुलासा होने के बाद लोगों का आक्रोश फूट पड़ा था।

वही अंकिता भंडारी के हत्यारों के खिलाफ शुक्रवार देर रात ही सीएम पुष्कर धामी का बुलडोजर गरजा। शुक्रवार देर रात ही आरोपी के रिजॉर्ट को सीएम धामी की जेसीबी ने ध्वस्त कर दिया। उत्तराखंड के इतिहास में ये पहला मौका है, जब अवैध निर्माण के खिलाफ इतनी त्वरित कार्रवाई हुई हो। अब इस अवैध निर्माण से जुड़े अफसरों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की तैयारी हैं। किन अफसरों की शह पर ये अवैध रिजॉर्ट तैयार हुआ, उन्हें चिन्हित कर कड़ी कार्रवाई होगी। सीएम धामी के इस सख्त रुख ने उत्तराखंड के लोगों को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की याद दिला दी है। अब साफ हो गया है की उत्तराखंड में भी कुछ भी गलत करने वालों के खिलाफ सीएम पुष्कर धामी का बुलडोजर चलेगा।

अंकिता की हत्या के मुख्य आरोपी भाजपा नेता के बेटे पुलकित आर्य के रिजार्ट को ध्वस्त करने के लिए देर रात कार्रवाई शुरू कर दी गई थी। उच्च स्तर से आदेश के बाद प्रशासन की टीम जेसीबी लेकर मौके पर पहुंच गई और ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू कर दी।

जानिए क्या हुआ था उस रात

साथ ही  मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, शुरुआती पूछताछ में पता चला है कि रिजॉर्ट का मालिक पुलकित आर्य अंकिता पर ग्राहकों से शारीरिक संबंध बनाने का दबाव बनाता था। 18 सितंबर की रात भी कुछ ऐसा ही हुआ था। उस दिन दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। जिसके बाद पुलकित अंकिता को लेकर वहां से निकल गया था। पुलकित आर्य दर्जा प्राप्त मंत्री रह चुके हैं बीजेपी नेता का बेटा बताया जा रहा है। जिसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ-साथ रिजॉर्ट के प्रबंध सौरभ भास्कर और सहायक प्रबंधक अंकित गुप्ता को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने अंकित की हत्या की बात कबूली है। आरोपियों ने बताया कि वह तीनों अंकिता को लेकर बैराज तक आए थे। आरोपियों ने यह भी कबूला है कि बैराज पर पहुंचने के बाद सभी ने फास्ट फूड खाया और शराब भी पी। इसी बीच अंकिता भंडारी धमकी देने लगी कि वो सभी को बता देंगी कि पुलकित आर्य उस पर ग्राहकों से संबंध बनाने का दबाव बनाता है। अंकित और पुलकित के बीच विवाद बढ़ गया और फिर तीनों ने मिलकर अंकिता का नहर में धक्का दे दिया।

रिजॉर्ट पर उठ रहे कई सवाल 

इस मामले में कई राज पर से पर्दा उठना अभी बाकी है। पुलिस अभी इस बात की पूछताछ कर रही है कि इस घटना में केवल तीन ही लोग शामिल हैं या फिर कोई और भी है। सवाल यह भी उठ रहा है कि रिजॉर्ट के सीसीटीवी कैमरे केवल दिखाने के लिए ही क्यों लगे थे? क्या रिजॉर्ट में किसी तरह का गैरकानूनी काम तो नहीं किया जा रहा था। इन सब सवालों को जवाब अब पुलिस को खोजना है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जघन्य अपराध करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दुख व्यक्त करते हुए लिखा है कि कि आज प्रातःकाल बेटी अंकिता का पार्थिव शरीर बरामद कर लिया गया है। इस हृदय विदारक घटना से मन अत्यन्त व्यथित है।

दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने हेतु पुलिस उपमहानिरीक्षक पी. रेणुका देवी जी के नेतृत्व में SIT का गठन कर इस गंभीर मामले की गहराई से जांच के भी आदेश दे दिए हैं। आरोपियों के गैर कानूनी रूप से बने रिजॉर्ट पर बुल्डोजर द्वारा करवाई भी कल देर रात की गई है। हमारा संकल्प है कि इस जघन्य अपराध के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

 

Mankhi Ki Kalam se

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *